आख़िरी ट्रेन पकड़ मुम्बई से गांव लौटा बेटा, मां-बाप ने नहीं दिया घुसने, बोला – पहले कोरोना जाँच कराओ

Corona Virus के चलते मुंबई में शटडाउन के बाद किसी तरह एक युवक आखिरी ट्रेन पकड़कर घर पहुंचा। महराजगंज जिले के धानी क्षेत्र के कानापार के रहने वाले इस युवक ने जैसे ही घर में दाखिल होने की कोशिश की, दरवाजे पर ही मां–बाप ने उसे रोक दिया। कहा पहले अस्पताल जाओ। कोरोना की जांच कराकर आओ। बेटा सफाई देता रहा कि उसे कोरोना नहीं हुआ है। लेकिन उसके माता–पिता ने जांच के लिए लौटा दिया। इसके बाद बेटे ने सिद्धार्थ नगर जिला अस्पताल में जांच कराई और कोरोना का लक्षण न मिलने पर घर लौटा।

यह युवक सोमवार को मुंबई से घर आया। मां–बाप ने जब घर में घुसने से मना कर दिया तो वह वापस लौट कोरोना की जांच कराने केलिए धानी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गया। वहां जांच नहीं हो पाई। इसके बाद वह सिद्धार्थनगर जनपद के जिला अस्पताल पहुंचा। वहां सामान्य जांच हुई, जिसमें डाक्टरों ने बताया कि कोरोना का लक्षण नहीं है। उसके बाद रिपोर्ट लेकर बेटा घर पहुंचा। तब उसे घर मेंप्रवेश मिला।

पिता ने कहा कि एहतियात जरूरी है

मुंबई से आए बेटे को घर में घुसने से मना कर कोरोना की जांच के लिए अस्पताल भेजने वाले पिता का कहना है कि यह सतर्कता केलिए जरूरी है। थोड़ी–सी लापरवाही मुश्किल हालात पैदा कर सकती है। बेटा कोरोना की जांच कराकर आ गया है। कुछ दिन तक वह घर में ही दूरी बनाए रहेगा। यह सभी लोगों को करना चाहिए।

Source: Live India

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *