कंगना को मनोज वाजपेयी का ‘करारा जवाब’- बहुत बड़ा कारण है जो ऐसे राग अलापे जा रहे हैं.

कंगना रनौत इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी मुखर हैं। बीएमसी और श‍िवसेना संग लड़ाई और जुबानी जंग को छोड़ दें तो कंगना बहुत कुछ ऐसा कह रही हैं, जिससे इंडस्‍ट्री के कई लोग खुश नहीं हैं। कंगना ने बीते दिनों ड्रग्‍स मामले में पूरी इंडस्‍ट्री को दोषी ठहरा दिया। कंगना ने हाल ही यह भी लिखा कि इंडस्‍ट्री की पार्टीज में कोकिन सबसे पॉप्‍युलर ड्रग है। कंगना ने ट्वीट किया कि इन पार्टीज में पानी में MDMA मिलाकर दिया जाता है, वो भी बिना आपकी जानकारी के। अब इस पूरे मामले में मनोजर बाजपेयी ने अपना जवाब दिया है, वो भी अपने सहज अंदाज में।

मनोज बोले- इन सब के पीछे स्‍वार्थ छ‍िपा है

कंगना ने दो टूक शब्‍दों में कहा है इंडस्‍ट्री में स्‍टार्स का बायकॉट होना चाहिए। हाल ही ‘इंडिया टुडे’ से बातचीत में मनोज बाजपेयी ने इस ओर अपना अलग रुख रखा। उन्‍होंने कहा, ‘यह बहुत ही अनफेयर है। किसी भी चीज को जेनरलाइज करना गलत है। मुझे पता नहीं क्‍यों इन सब के पीछे किसी का निहित स्वार्थ लगता है। मैं सच में कहूं तो मैं इंडस्‍ट्री को डिफेंड नहीं कर रहा हूं। यहां बुरे लोग हैं तो यहां अच्‍छे लोग भी हैं।’

‘यहां अच्‍छे लोग भी हैं और बुरे लोग भी

‘ मनोज बाजपेयी आगे कहते हैं, ‘यहां हर तरह के लोग हैं। मुझे बुरे लोग भी मिलते हैं यहां पर। लेकिन बिना उनसे डरे हुए मैं उनको डील करता रहा हूं। उनसे लड़ता भी रहा हूं और आगे भी लड़ूंगा। लेकिन बाकी सारे क्षेत्र में जैसे है, वैसे यहां भी है। लेकिन आप जैसे ही कहते हैं कि यहां ड्रग्‍स का व्‍यापार है, तो जो भी लोग यह देख रहे हैं वो जब मुझे देखते हैं कि तो उन्‍हें लगता है कि ड्रग्‍स का गोदाम आ रहा है। उनको लगता है कि जैसे कांचा सेठ मनोज बाजपेयी है।’

‘कुछ गलत हो रहा है यहां, अंधे हैं आप जो दिखाई नहीं दे रहा’

मनोज कहते हैं, ‘जब इस तरह से बात हो रही है तो मुझे लगता है कि इसमें किसी का स्‍वार्थ है। इसमें बहुत कारण छुपा हुआ कि इस तरह के राग अलापे जा रहे हैं। ‘शूल’ फिल्‍म में मेरा एक डायलॉग था कि कुछ गलत हो रहा है यहां, अंधे हैं आपलोग जो आपको ये दिखाई नहीं देता है। और ये मैं आज हर किसी से कहना चाहता हूं कि ये जो दिखाया जा रहा है, बात सिर्फ वो नहीं है। ये किसी मकसद के तहत किया जा रहा है। ये मकसद आपको ढूंढ़ना पड़ेगा।’

सुशांत की मौत के बाद उठाई थी आवाज

गौरतलब है कि मनोज बाजपेयी उन चुनिंदा लोगों में से हैं, जिन्‍होंने सुशांत की मौत के बाद सबसे पहले यह कहा था कि वह आत्‍महत्‍या नहीं कर सकते हैं। जरूर इसके पीछे कुछ साजिश है। मनोज बाजपेयी ने तब कहा था कि यदि यह सूइसाइड है भी तो इस मामले की जांच होनी चाहिए कि ऐसे कौन से हालात थे, जिसने सुशांत को ऐसा करने पर मजबूर कर दिया।

भोजपुरी रैप सॉन्‍ग के कारण चर्चा में हैं मनोज

बता दें कि मनोज बाजपेयी इन दिनों अपने रैप सॉन्‍ग ‘बम्‍बई में का बा’ के लिए भी खासे चर्चित हैं। उनके इस भोजपुरी रैप सॉन्‍ग को खूब पसंद किया जा रहा है। इस गाने को डॉ. सागर ने लिखा है जबकि आवाज मनोज बाजपेयी ने दी है। सॉन्‍ग के डायरेक्‍टर अनुभव सिन्‍हा हैं।

Source: Navbharat Times

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *