कभी लगा चोरी का आरोप तो कभी मिली अंडरवर्ल्ड से धमकी, जूस बेचने वाले गुलशन कुमार ऐसे बने ‘कैसेट किंग’

एक छोटी सी म्यूजिक कैसेट कंपनी से बिजनेस की शुरुआत करने वाले गुलशन कुमार ने म्यूजिक की दुनिया में तहलका मचा दिया था, लेकिन दिल्ली के एक छोटे से इलाके से मुंबई पर राज करने वाले गुलशन कुमार की सफलता कई लोगों को रास नहीं आई और उनकी हत्या कर दी गई। 12 अगस्त को गुलशन कुमार की पुण्यतिथि होती है। 12 अगस्त 1997 को गुलशन कुमार को अंधेरी वेस्ट के एक मंदिर के सामने गोली मार दी गई थी। 9 जनवरी 2001 को विनोद जगताप ने कुबूल किया कि उसने ही गुलशन कुमार को गोली मारी। 29 अप्रैल 2002 को विनोद जगताप को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई।

बचपन में गुलशन कुमार जूस की दुकान पर अपने पिता का हाथ बंटाते थे और यहीं से उनका बिजनेस में इंट्रेस्ट हो गया और इस कमाई से उन्होंने कई अच्छे काम किए। गुलशन कुमार ने अपने धन का एक हिस्सा समाज सेवा के लिए दान करके एक मिसाल कायम की। उन्होंने वैष्णो देवी में एक भंडारे की स्थापना की जो आज भी तीर्थयात्रियों के लिए नि: शुल्क भोजन उपलब्ध कराता है।

सफलता के दौर में गुलशन कुमार पर चोरी का आरोप लगाया गया था। रेडिफ के अनुसार, उन्होंने लोकप्रिय साउंडट्रैक की कम लागत वाली प्रतियां बेचीं लेकिन जब इसके बारे में पूछा गया, तो उन्होंने आरोपों से इनकार कर दिया। कहा जाता है उस दौर में जब एक कैसेट 25 से 30 रुपये में बिका करते थे, गुलशन कुमार अपने कैसेट को 15 से 17 रुपये में बेचते थे। गुलशन कुमार पूरी शिद्दत से म्यूजिक इंडस्ट्री के किंग बनना चाहते थे और किस्मत उनकी मदद कर रही थी।

महज 10 साल में ही गुलशन कुमार ने टी सीरिज के बिजनेस को 350 मिलियन तक पहुंचाया था। गुलशन कुमार ने सोनू निगम, अनुराधा पौडवाल, कुमार सानू जैसे कई सिंगर्स को लॉन्च भी किया। उन्होंने अपने भाई कृष्णन कुमार दुआ को भी बॉलीवुड में लॉन्च किया लेकिन वह सफल न हो सके।

साल 1992 में गुलशन कुमार भारत के सबसे ज्यादा टैक्स देने वाले शख्स बन गए थे। एक बार जब अबु सलेम ने गुलशन कुमार से हर महीने 5 लाख रुपए देने के लिए कहा तो गुलशन कुमार ने इनकार करते हुए कहा कि इतने रुपए देकर वो वैष्णो देवी में भंडारा कराएंगे। उन दिनों D कंपनी का आतंक इंडस्ट्री में बढ़ रहा था। फिल्मों की कहानी से लेकर कास्टिंग तक भाई के फोन पर बदल जाती थी। इसके बाद से ही वह अंडरवर्ल्ड के निशाने पर आ गए।

गुलशन कुमार की हत्या हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में अंडरवर्ल्ड के कारण हुई आखिरी हत्या थी। उस वक्त गुलशन कुमार की मौत ने पूरे देश को हिला दिया। गुलशन कुमार के निधन के बाद उनके बेटे भूषण कुमार ने सुपर कैसेट्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड की जिम्मेदारी संभाल ली। उनकी बेटी, तुलसी कुमार भी एक जानी-मानी सिंगर हैं।

Source: Amar Ujala

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *