जब कटरीना को अपनी शादी में बुलाने से दीपिका पादुकोण ने कर दिया था इनकार, एक वजह ने बदल दिया था मन !

इस बात में कोई दोराय नहीं कि एक मजबूत दोस्ती हमें मिलने वाले खूबसूरत तोहफों में से एक है। लेकिन इस दौरान आपको यह भी डिसाइड करना है कि कौन दोस्त असल मायनों में आपके लिए तोहफा है और किसे आप तोहफा समझने की भूल कर रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि दोस्ती में हमेशा से ही एक मजबूत भावनात्मक संबंध शामिल होता है। जब तक दोस्ती फलतीफूलती है, तब तक यह रिश्ता एक अच्छे दौर से गुजरता है। लेकिन किसी कारणवश जब दोस्ती सबसे खराब मोड़ ले लेती है, तो वहां लोगों को एकदूसरे का दुश्मन बनने में देर नहीं लगती।ऐसे में जब बात हो बॉलीवुड बालाओं की, तो बहुत कम एक्ट्रेसेस ऐसी हैं, जो एक नाव में सवार होने के बाद भी एकदूसरे संग अच्छे रिश्ते में हों। एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण और कटरीना कैफ भी उन्हीं में से एक हैं, जो भले ही इस समय एकदूसरे को अपना अच्छा दोस्त बताती हों लेकिन एक समय ऐसा भी था, जब दोनों एकदूसरे का चेहरा तक नहीं देखना चाहती थीं।

कम ही लोग ऐसे हों जो नहीं जानते होंगे कि दीपिका और कटरीना के मनभेद का कारण और कोई नहीं बल्कि एक्टर रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) हैं, जो इन दिनों आलिया भट्ट (Alia Bhatt) को डेट कर रहे हैं। कटरीना को डेट करने से पहले रणबीर, दीपिका के साथ रिलेशन में थे। यही नहीं, एक खबर के मुताबिक साल 2011 में रणबीर ने अपने एक इंटरव्यू में कहा भी था कि उन्होंने दीपिका को कैटरीना के लिए धोखा दिया था। हालांकि, ब्रेकअप के कुछ सालों बाद दीपिका और रणबीर के बीच चीजें ठीक हो गई थीं लेकिन कटरीना अभी भी ऐसी थीं, जिन्हें शायद ही दीपिका कभी माफ करना चाहती थीं।

ऐसा हम यूं ही नहीं बल्कि जब साल 2018 में जब दीपिका पादुकोण अपनी बहन अनीषा पादुकोण के साथवोग BFF’ में पहुंची थीं, तो उन्होंने अपने जवाब से यह साफ कर दिया था कि दोनों के बीच अभी भी चीजें सही नहीं हैं। दरअसल, इस शो की होस्ट नेहा धूपिया ने जब दीपिका से पूछा किक्या वह अपनी शादी में कटरीना कैफ को इंवाइट करेंगी? तो एक्ट्रेस ने जवाब देते हुए कहा नहीं।हालांकि, दोनों के बीच कोल्ड वार केवल इसी मंच से देखने को नहीं मिली थी, जब रणबीर और कटरीना की स्पेन बीच वाली तस्वीरें वायरल हुई थीं, तब दीपिका ने अपने एक इंटरव्यू में कमेंट करते हुए कहा थाकटरीना को अपनी फिल्मों को लेकर ज्यादा सावधान रहना चाहिए।

जिसके जवाब में कटरीना की दोस्त ने एक्ट्रेस के हवाले से कहादीपिका को अपनेज्ञान के शब्दअपने पास रखना सीखना चाहिए। कटरीना ने अपने सभी विश्वासपात्रों को एक स्पष्ट संदेश भेजा है कि दीपिका को इस मामले में चुप रहने की जरूरत है क्योंकि वह दोनों एक ही नाव में सवारी कर रही हैं। जिनके घर शीशे के होते हैं, वह दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकते।हालांकि, दीपिका ने जब साल 2018 के नवंबर में रणवीर सिंह से शादी की थी, तो अपने वेडिंग रिसेप्शन में उन्होंने कटरीना कैफ को बुलाया था, जिसके बाद उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा था, ‘मैंने सब बातों को भुलाकर उनसे पैचअप कर लिया है। मैं उनका सम्मान करती हूं क्योंकि उन्होंने इंडस्ट्री में कई साल गुजारे हैं और वह एक बेहतरीन एक्ट्रेस हैं।

यही नहीं, रणवीरदीपिका के रिसेप्शन में शामिल होकर कटरीना ने कहा था, ‘मैं रिसेप्शन से सबसे आखिरी निकलने वाले मेहमानों में से थी। मैंने वहां खूब खाना खाया और खूब डांस किया था। खैर, दीपिका और कटरीना की बातों से इतना तो साफ है कि दोनों के रिश्ते पहले से बेहतर हैं। लेकिन सोचने वाली बात यह है कि क्या दोस्ती में आई कड़वाहट को भुलाया जा सकता है।इस बात में कोई शक नहीं कि टूटी हुई दोस्ती के बीच फिर से शुरूआत करनी थोड़ी मुश्किल है। लेकिन यह भी सच है कि ऐसा करना नामुमकिन भी नहीं है। अगर आपको लगता है कि आप दोनों के बीच जिस वजह से दूरियां पैदा हुई थीं अब उनका एकदूसरे से कोई लेनादेना नहीं हैं, तो वहां फिर से दोस्ती का हाथ बढ़ाया जा सकता है। दीपिका को जब अपनी गलती का एहसास हुआ तो उन्होंने न केवल कटरीना को अपनी शादी में बुलाया बल्कि सरेआम इस बात को भी कबूल किया कि अब उन्हें एक्ट्रेस से कोई शिकायत नहीं है।

इस बात में कोई दोराय नहीं कि समय के साथ लोग बदलते हैं और उनकी पसंद भी बदलती है। ऐसे में अगर आप दोनों को ही लगता है कि आपके रिश्ते में कड़वाहट बेवजह है, तो वहां सुलह करना बनता है। ऐसा करने न केवल आप दोनों के बीच के रिश्ते पहले से बेहतर होंगे बल्कि मन में किसी तरह का कोई बोझ भी नहीं रहेगा। कटरीना और दीपिका का रिश्ता उन लोगों के लिए बड़ा सबक है, जो अपने एक्स की वजह से अपने दोस्तों के खिलाफ हो जाते हैं। अगर आपके दोस्त ने आपको धोखा दिया है, तो आपका पार्टनर भी उतना ही जिम्मेदार है। ऐसे में एक्स के साथ दोस्ती का रिश्ता भी सही नहीं है। 

एकतरफा दोस्ती यानी ऐसा रिश्ता, जिसमें इमोशनल टच सिर्फ एक ही व्यक्ति का होता है। ऐसी दोस्ती न केवल सामने वाले की जरूरतों के इर्दगिर्द घूमती है बल्कि उसमें एकदूसरे से लगाव भी न के बराबर होता है। अगर आप किसी ऐसे इंसान के साथ फिर से दोस्ती का रिश्ता बनाने का सोच रहे हैं, जिसमें आपके लिए बिल्कुल भी प्यार न हो, तो आपका कोशिश करना बेकार है। रिलेशनशिप एक्सपर्ट की मानें तो, ‘ऐसा व्यक्ति जो अपनी इच्छाओं, अपेक्षाओं के बारे में सोचता है, उसके साथ दोस्ती का रिश्ता व्यर्थ है।

Source: Navbharat Times