‘इंसानियत’ की खातिर इन स्‍टार्स ने ठुकराए करोड़ों के ऑफर्स, ताकि समाज में ना पहुंचे गलत संदेश !

‘ना बीवी ना बच्‍चा, ना बाप बड़ा ना मैया, द होल थ‍िंग इज दैट कि भैया सबसे बड़ा रुपैया।’ साल 1976 में आई महमूद की फिल्‍म ‘सबसे बड़ा रुपैया’ का यह गाना तब भी इस दुनिया पर उसी तरह फिट बैठता था, जितना की आज है। हमारे आस-पास की दुनिया से लेकर ग्‍लैमर वर्ल्‍ड तक ऐसे कई लोग हैं, जो पैसों के आगे इंसानियत को ताक पर रख देते हैं। ऐसे कई लोग हैं, जिन्‍हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनकी किसी हरकत से या किसी बात दूसरों को कितना नुकसान पहुंच सकता है। मायने रखता है तो सिर्फ पैसे कमाना। लेकिन इसी दुनिया कुछ ऐसे भी उदाहरण हैं, जिन्‍होंने ‘इंसानियत’ में भरोसा जताया है। करोड़ों रुपये की डील को सिर्फ इसलिए ठुकरा दिया कि उससे समाज में गलत संदेश जाता है। अविका गौर (Avia Gor) से लेकर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) तक आज बात टीवी और फिल्‍मी दुनिया के ऐसे ही सिलेब्रिटीज की, जिन्‍होंने खुद से पहले दुनिया की, लोगों की सुध ली।

अविका गौर ने ठुकराया फेयरनेस क्रीम का ऑफर 

हाल ही ‘ईटाइम्‍स’ को दिए इंटरव्‍यू में ‘बालिका वधू’ फेम अविका गौर (Avika Gor) ने खुलासा किया क‍ि उन्‍होंने एक फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन की डील को ठुकरा दिया है। अविका कहती हैं, ‘यह दुर्भाग्‍य है कि वर्षों से हमें खूबसूरती के गलत मानक बताए गए हैं। हमने इतने सालों में ऐसे कई विज्ञापन देखे हैं जहां गोरा होने को ही सुंदर माना जाता है, लेकिन मैं इस विचार से सहमत नहीं हूं। गोरा होना ही आपकी पूरी पर्सनैलिटी को अच्‍छा नहीं बताता है। इन प्रोडक्‍ट्स को सपोर्ट करने से मना करने का एक और कारण यह है कि मैं जानती हूं कि युवाओं के दिमाग इस तरह की नकली सोच का कितना असर पड़ सकता है। गोरा होना आपको आत्मविश्वासी और सुंदर नहीं बनाएगा। आपके काम की नैतिकता, आपकी सोच, आपकी प्रतिभा ही आपकी पूरी पर्सनैलिटी है।’

अनुष्‍का शर्मा को सेक्‍स‍िस्‍ट और रेसिस्‍ट से परहेज

अनुष्‍का शर्मा (Anushka Sharma) भी कई बार अपने इंटरव्‍यूज में, सोशल मीडिया पोस्‍ट्स में इस बात का खुलासा कर चुकी हैं कि उन्‍होंने भी ऐसे कई प्रोडक्‍ट्स के लिए ऐड फिल्‍म करने के ऑफर ठुकराए हैं। अनुष्‍का कहती हैं, ‘मैं कभी भी खुद को ऐसे किसी प्रोडक्‍ट के साथ नहीं जोड़ सकती जो लिंगवाद और जातिवाद या किसी भी तरह के भेदभाव को बढ़ावा देते हैं।’

सुशांत सिंह राजपूत ने ठुकराया था 15 करोड़ का ऑफर

दिवंगत बॉलिवुड ऐक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने भी एक बार एक फेयरनेस क्रीम के ऐड को करने से इनकार कर दिया था। बताया जाता है कि उन्‍हें इसके लिए 15 करोड़ रुपये ऑफर हुए थे। सुशांत का साफ तौर पर यह कहना था कि वह ऐसे किसी विज्ञापन का हिस्‍सा नहीं बनेंगे, जिसका नेगेटिव असर लोगों पर पड़े।

कंगना रनौत को ऑफर हुए थे 2 करोड़ रुपये

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को भी एक फेयरनेस क्रीम का विज्ञापन करने के लिए 2 करोड़ रुपये ऑफर किए गए थे, लेकिन उन्‍होंने यह कहते हुए इससे इनकार किया था कि उन्‍हें कभी ‘फेयर’ और ‘फेयरनेस क्रीम क्‍यों लगाएं’ इसका चक्‍कर समझ नहीं आता।

रणदीप हुडा को ‘गोरेपन’ की दौड़ से है चिढ़

रणदीप हुडा (Randeep Hooda) ने भी अपने एक इंटरव्‍यू में बताया था कि उन्‍होंने फेयरनेस क्रीम के ऐसे कई विज्ञापन ठुकराए हैं। रणदीप कहते हैं, ‘मैं कई बार यह बात कह चुका हूं। फिर कहता हूं कि मुझे गोरेपन के पीछे की यह दौड़ समझ नहीं आती। लोग गोरा क्‍यों होना चाहते हैं। जबकि आप जैसे हैं, आपका जो भी रंग है, आप वैसे ही खूबसूरत लगते हैं।

‘रणबीर कपूर ने ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट्स को कहा ‘ना’

रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) ने भी अपने करियर के शुरुआत से ही यह तय कर लिया है कि वह कभी किसी ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट के विज्ञापन का हिस्‍सा नहीं बनेंगे।

प्रियंका चोपड़ा कभी करती थीं एंडोर्स, फिर कहा ‘ना’

प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) ने एक बार बताया था कि वह किसी जमाने में वह एक फेयरनेस क्रीम को एंडोर्स करती थीं। उन्‍होंने यह भी खुलासा किया कि परिवार में उन्‍हें कई लोग ‘काली’ कहते थे। लेकिन जब उन्‍हें इस बात का एहसास हुआ तो उन्‍होंने क्रीम को एंडोर्स करना बंद कर दिया।

Source: Navbharat Times